बिटकॉइन क्या है? पूरी जानकारी.

देखिए दोस्तों, हर देश की एक करेंसी होती है जिसका इस्तेमाल सामान खरीदनें के लिए किया जाता है. हर देश की करेंसी अलग-अलग होती है उसका अपना नाम और वेलूइस भी अपने देश के हिसाब से रखा जाता है. जैसे भारत में लेन-देन के लिए जो ऊपयोग किया जाता है उसे रूपीया कहते है.अमरीका की करेंसी डॉलर होती है U.K. की करेंसी पौंड होती है, इसी तरह अलग-अलग देश की अलग-अलग करेंसी होती है इसी तरह इंटरनेट पर भी करेंसी होती है जिसका इस्तेमाल ऑनलाइन ट्रांजेक्शन्स के लिए किया जाता है बैसे तो आये दिन नई-नई करेंसी मार्किट में आती रहती है, लेकिन आज मैं जिस करेंसी की बात करना चाहता हूँ उसका नाम है बिटकॉइन, इसके बारे में तो आपने ज़रूर सुना होगा| क्योंकि बिटकॉइन पिछले कई सालों से चर्चा में है, आज हम बिटकॉइन के बारे में सीखेंगे कि ये होता क्या है इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है, और क्यों किया जाता है, और इस करेंसी की वेलूइस कितनी होती है. बिटकॉइन की पूरी जानकारी लेने के लिए इस ब्लॉग को आपको पूरा पढ़ना होगा। लेकिन इसे पहले आप सभी का बहुत-बहुत स्वागत है ONLINE EARNING Sources वेबसाइट पर, तो चलिए सबसे पहले जानते है, कि बिटकॉइन होता क्या है?


Scroll down the page to read this post in English


बिटकॉइन क्या है?

SHARE MARKET DEMAT ACCOUNT OPENING LINK

https://upstox.com/open-account/?f=FP6999

देखिए बिटकॉइन एक वर्चुअल करेंसी है इसे डिजिटल करेंसी भी कहते है. क्योंकि इसे डिजिटल तरिके से ऊपयोग किया जाता है. बिटकॉइन को वर्चुअल करेंसी इसलिए कहा जाता है ये बाकि करेंसी से बिल्कुल अलग है. इसे वाकि करेंसी जैसे रूपीस या डॉलर की तरह न ही हम देख सकते है और न ही हम इसे पैसे की तरह छू सकते है लेकिन फिर भी हम इसका इस्तेमाल पैसे की तरह ही लेन-देन में करते है. बिटकॉइन को हम सिर्फ online wattet में स्टोर कर सकते है. बिटकॉइन का अभिष्कार सातोशी नकामोटो ने साल 2008 में किया था, और साल 2009 में ग्लोबल पेमेंट के रूप में इसे जारी किया गया था. तब से इसकी लोकप्रियता बढ़ती जा रही है. बिटकॉइन एक डिसेंट्रलाइस करेंसी है, डिसेंट्रलाइस करेंसी क्या होता है पहले इसे समझते है.

डिसेंट्रलाइस करेंसी क्या होती है?

दोस्तों डिसेंट्रलाइस का मतलब ये है कि इसको कंट्रोल करने वाला कोई भी बैंक या सरकार अथॉरिटी नहीं है, यानि कोई इसका मालिक नहीं है बिटकॉइन का इस्तेमाल कोई भी कर सकता है. जैसे हम सभी इंटरनेट का इस्तेमाल करते है और उसका भी कोई मालिक नहीं, ठीक उसी तरह बिटकॉइन भी है. जिसके पास बिटकॉइन होता है बह उसे भौतिक रूप से चीजों की खरीददारी नहीं कर सकता। क्यूंकि बिटकॉइन का उपयोग सिर्फ ऑनलाइन ही क्या जा सकता है. ऑनलाइन भुकतान के अलाबा इसे दूसरी करेंसी में भी बदला जा सकता है. अगर आपके पास बिटकॉइन है तो आप इसे अपने देश की करेंसी में बदलकर अपने बैंक में ट्रांसफर कर सकते है. बिटकॉइन दुनिया की सबसे महंगी करेंसी बन गयी है. कंप्यूटर नेटवर्क्स के ज़रिए इस करेंसी से बिना किसी माध्यम के ट्रांजेक्शन किया जा सकता है. बँहि इस डिजिटल करेंसी को डिजिटल वॉलेट में रखा जा सकता है. डिसेंट्रलाइस करेंसी होने की बजह से इस करेंसी पर किसी भी बैंक या फिर सरकार का कण्ट्रोल नहीं होता। आप जांच चाहो बांह बिटकॉइन को भेज सकते है आपको कोई नहीं रोक सकता। लेकिन इसमें एक दुबिधा भी है अगर किसी तरह का कोई फ्रॉड या धोखा होता है तो आप किसी के पास जाकर इसकी शिकायत दर्ज नहीं कर सकते। फिर भी दुनिया भर के बड़े बिज़नेस मैन और कई बड़ी कंपनीज़ इस करेंसी का इस्तेमाल करती है.

What is bitcoin? Complete information

ENGLISH BLOG

 

Look friends, every country has a currency which is used to buy goods. The currency of every country is different, its name and value is also kept according to its country. Just like the currency used for transactions in India is called Rupee. The currency of US is Dollar, the currency of UK is Pound, similarly different country has different currency, similarly currency on internet It is used for online transactions, as new currency keeps coming in the market every day, but today the currency I want to talk about is named bitcoin, you must have heard about it. Because bitcoin has been in discussion for many years, today we will learn about bitcoin, what it is, how it is used, and why it is used, and how much is the value of this currency. To get complete information about bitcoin, you have to read this blog completely. But first of all, all of you are very welcome on the Online Earning Sources website, so let’s first know what is bitcoin?

 

See bitcoin is a virtual currency, it is also called digital currency. Because it is used digitally. Bitcoin is called a virtual currency because it is completely different from the rest of the currency. We cannot see it like any other currency like Rupee or Dollar, nor can we touch it like money, but still we use it like money in transactions. We can store bitcoin only in online wattet. Bitcoin was invented by Satoshi Nakamoto in the year 2008, and was released as a global payment in the year 2009. Since then its popularity is increasing. Bitcoin is a decentralized currency, first let us understand what is decentralized currency.

What is Decentralise Currency?

Friends, the meaning of decentralis is that there is no bank or government authority controlling it, that is, no one owns it, anyone can use bitcoin. Just like we all use the Internet and there is no owner of it, in the same way there is bitcoin. Anyone who has bitcoins cannot physically buy things. Because bitcoin can only be used online. Apart from online payment, it can also be converted into other currency. If you have bitcoin, then you can convert it to the currency of your country and transfer it to your bank. Bitcoin has become the most expensive currency in the world. Transactions can be done with this currency without any medium through computer networks. However, this digital currency can be kept in a digital wallet. Due to being a decentralized currency, there is no control of any bank or government on this currency. If you want to check you can send arm bitcoin, no one can stop you. But there is also a dilemma in this, if there is any kind of fraud or fraud, then you cannot go to anyone and file a complaint. Nevertheless, big business men and many big companies around the world use this currency.

Comments (2)

  1. Pingback: +क्रिप्टो करेंसी क्या है? - ONLINE Earning sources

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *